बीआरएस को जल्द मिलेगा ‘वीआरएस’: भाजपा प्रमुख नड्डा

Date:


प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और सांसद बी संजय कुमार की राज्यव्यापी ‘पदयात्रा’ के पांचवें चरण के समापन के मौके पर एक जनसभा को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि टीआरएस (तेलंगाना राष्ट्र समिति) का हाल में नाम बदलकर बीआरएस कर दिया गया है और इसे जल्दी ही ‘वीआरएस’ (स्वैच्छित सेवानिवृत्ति) मिलेगी।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तेलंगाना में सत्तारूढ़ भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) पर कथित भ्रष्टाचार को लेकर बृहस्पतिवार को हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) की सरकार को अलविदा कहने का समय आ गया है।
नड्डा ने राव की बेटी से दिल्ली की शराब नीति में कथित घोटाले के संबंध में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की पूछताछ को लेकर भी उनपर हमला किया।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और सांसद बी संजय कुमार की राज्यव्यापी ‘पदयात्रा’ के पांचवें चरण के समापन के मौके पर एक जनसभा को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि टीआरएस (तेलंगाना राष्ट्र समिति) का हाल में नाम बदलकर बीआरएस कर दिया गया है और इसे जल्दी ही ‘वीआरएस’ (स्वैच्छित सेवानिवृत्ति) मिलेगी।
उन्होंने कहा, केसीआर साहब नाराज हो सकते हैं। लेकिन, एजेंसियों को उनकी बेटी को पूछताछ के लिए क्यों बुलाना पड़ा। क्या कारण है? इसमें क्या है?

राव की बेटी कविता (बीआरएस एमएलसी) से हाल ही में सीबीआई ने दिल्ली की आबकारी नीति में कथित घोटाले के मामले में पूछताछ की थी।
उन्होंने आरोप लगाया कि केसीआर ‘बड़े स्तर’ पर भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, जबकि उनके मंत्री ‘छोटे स्तर’ पर भ्रष्टाचार में शामिल हैं।
नड्डा ने राव पर तेलंगाना जैसे समृद्ध राज्य को गरीब राज्य में बदलने और कर्ज में डूबाने का आरोप लगाया।

नड्डा ने राव की कथित रूप से पारिवारिक शासन को बढ़ावा देने और गरीबों के लिए दो कमरों के घर, कृषि ऋण माफी, दलितों को भूमि का वितरण, बेरोजगारी भत्ता और अन्य चुनावी वादों को पूरा नहीं करने को लेकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि केसीआर सरकार को अलविदा कहने का समय आ गया है।
उन्होंने दावा किया कि बीआरएस ने पिछले चरणों में संजय कुमार की पदयात्रा और बृहस्पतिवार को उनकी खुद की यात्रा को भी रोकने की कोशिश की।

हालांकि उन्होंने इस बारे में विस्तार से नहीं बताया।
भाजपा नेता ने कहा, “मैं केसीआर को बताना चाहता हूं। यह लोकतंत्र है और लोकतंत्र में लोग दमन को कूड़ेदान में डाल देते हैं।”
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार समाज के सभी वर्गों को मजबूत करने के लिए काम कर रही है, जबकि केसीआर सरकार भ्रष्ट और जनविरोधी है।
नड्डा ने केसीआर पर आरोप लगाया कि उन्होंने एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी से संबंधों के कारण 17 सितंबर को तेलंगाना मुक्ति दिवस नहीं मनाया।इसी दिन निजाम के शासन वाली देसी रियासत हैदराबाद का भारतीय संघ में विलय हुआ था।
उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा शुरू किए गए मुक्ति दिवस समारोह को बड़े पैमाने पर आगे बढ़ाया जाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।





www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related