Purvottar Lok: Tawang में तनाव और Nagaland, Tripura व Meghalaya में चुनाव के बीच प्रधानमंत्री का त्रिपुरा दौरा… जानिये पूर्वोत्तर की बड़ी खबरें

Date:


इस सप्ताह सोमवार को भारतीय थलसेना ने एक बयान में कहा था, ‘‘पीएलए के सैनिकों के साथ तवांग सेक्टर में एलएसी पर नौ दिसंबर को झड़प हुई। हमारे सैनिकों ने चीनी सैनिकों का दृढ़ता के साथ सामना किया। इस झड़प में दोनों पक्षों के कुछ जवानों को मामूली चोटें आईं।’’

Prabhasakshi News Network के खास कार्यक्रम Purvottar Lok में आप सभी का स्वागत है। अरुणाचल प्रदेश के तवांग में भारत और चीन सेना के बीच झड़प इस सप्ताह की सबसे बड़ी घटना रही। इसके अलावा असम के गमछे को जीआई टैग मिलना बड़ी उपलब्धि रही। इसके अलावा पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में चुनावी गहमागहमी भी शुरू हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को त्रिपुरा में रहेंगे और भाजपा के चुनावी अभियान का शंखनाद करेंगे। आइये एक नजर डालते हैं North-East India से इस सप्ताह की प्रमुख खबरों पर। 

दिग्गज मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम के पति ओनलेर करोंग ने विवाद खड़ा कर दिया है क्योंकि उन्होंने इम्फाल में एक पार्क में हाल में लगाई गई अपनी पत्नी की प्रतिमा पर असंतोष जताया है। हम आपको बता दें कि मैरीकॉम सहित राज्य के 19 ओलंपियन की प्रतिमा हाल में मणिपुर ओलंपिक पार्क में लगाई गई थी। ओनलेर करोंग ने एक स्थानीय समाचार पत्र को दिए साक्षात्कार में दावा किया कि पार्क में लगाई गई प्रतिमा छह बार की महिला मुक्केबाजी विश्व चैंपियन और 2012 लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता मैरीकॉम जैसी नजर नहीं आती। मैरीकॉम के भाई जिम्मी कॉम ने बताया है कि मुख्यमंत्री कार्यालय ने उन्हें आश्वासन दिया है कि पार्क के उद्घाटन से पहले प्रतिमा को बदल दिया जाएगा। हम आपको बता दें कि अभी पार्क के उद्घाटन की तारीख तय नहीं हुई है।

अरुणाचल प्रदेश की बात करें तो इस सप्ताह वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ तनाव के बीच वायुसेना ने पूर्वोत्तर क्षेत्र में एक बड़ा अभ्यास शुरू किया। इस अभ्यास में राफेल लड़ाकू विमानों को भी शामिल किया गया। इस अभ्यास के बारे में जानकारी रखने वाले लोगों ने कहा कि बड़े पैमाने पर किये गये इस दो दिवसीय अभ्यास में लगभग सभी अग्रिम पंक्ति के लड़ाकू विमान एवं क्षेत्र में तैनात अन्य परिसंपत्तियां शामिल की गई हैं। हम आपको यह भी बता दें कि इस सप्ताह सोमवार को भारतीय थलसेना ने एक बयान में कहा था, ‘‘पीएलए के सैनिकों के साथ तवांग सेक्टर में एलएसी पर नौ दिसंबर को झड़प हुई। हमारे सैनिकों ने चीनी सैनिकों का दृढ़ता के साथ सामना किया। इस झड़प में दोनों पक्षों के कुछ जवानों को मामूली चोटें आईं।’’ यह आमना-सामना पूर्वी लद्दाख में दोनों पक्षों के बीच 30 महीने से अधिक समय से सीमा गतिरोध के बीच हुआ।

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने यांग्त्से घाटी में चीनी सैनिकों द्वारा वास्तविक नियंत्रण रेखा में एकतरफा बदलाव की कोशिश के संदर्भ में कहा है कि भारतीय सैनिक किसी भी बाहरी आक्रमण का ‘‘करारा जवाब’’ देने में सक्षम हैं। उन्होंने पूर्व में चीनी घुसपैठ का जिक्र करते हुए यह भी कहा कि ‘‘यह 1962 नहीं है।’’ 

केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रीजीजू ने कहा है कि अरुणाचल प्रदेश प्राचीन काल से भारत का अभिन्न अंग रहा है। रीजीजू ने हालांकि तवांग की घटना पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। देश में सांस्कृतिक पुनरुद्धार और सरकार द्वारा इस संदर्भ में किए जा रहे प्रयास के मुद्दे पर मीडिया को संबोधित करते हुए अरुणाचल प्रदेश से लोकसभा सदस्य ने कहा, “आज अरुणाचल प्रदेश पर चाहे कोई कुछ भी कहे, यह स्पष्ट है कि यह (प्रदेश) प्राचीन काल से ही भारत से जुड़ा हुआ है। इसलिए, ऐसा नहीं है कि अब यह भारत का हिस्सा है, हालांकि वर्तमान नाम अब दिया गया है, यह प्राचीन काल से भारत का अभिन्न अंग रहा है।” उन्होंने कहा कि इसे प्रधानमंत्री ने बहुत खूबसूरती से पेश किया है।

पक्षी प्रेमियों ने सुदूर पूर्वोत्तर अरुणाचल प्रदेश में मायावी व्रेन बैबलर्स की एक नयी प्रजाति का पता लगाया है जिसे उन्होंने लिसु व्रेन बैबलर नाम दिया है। बेंगलुरु, चेन्नई और तिरुवनंतपुरम के पक्षी प्रेमियों वाली टीम ने इस साल मार्च में अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले की मुगाफी चोटी पर व्रेन बैबलर्स की इन नयी प्रजातियों को देखा था। हम आपको बता दें कि व्रेन बैबलर एक प्रकार का नन्हा पक्षी है जो सदाबहार जंगलों की घनी झाड़ियों में पाए जाते हैं, खासकर बहते पानी के आस-पास पाए जाते हैं।

मेघालय से इस सप्ताह की बड़ी खबरों की बात करें तो पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एल.आर. बिश्नोई ने असम के पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिले का दौरा किया और मुकरोह जैसी हिंसा को रोकने के लिए पड़ोसी राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा की। यह बैठक ऐसे समय में हुई है जब दो पूर्वोत्तर राज्यों के बीच सीमा से सटे एक विवादित क्षेत्र में जंगल की बाड़ के एक हिस्से को नष्ट किया गया है। अधिकारी ने कहा कि अंतरराज्यीय सीमा के साथ विवादित ब्लॉक-द्वितीय क्षेत्र में उमसॉ लुमदोरबार में असम वन विभाग की बाड़ के टूटे मिलने के एक दिन बाद यह बैठक हुई थी।

भारत और कजाकिस्तान की सेनाओं ने इस सप्ताह मेघालय में एक संयुक्त अभ्यास शुरू किया जो एक पखवाड़ा चलेगा। दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने और द्विपक्षीय संबंध प्रगाढ़ करने के उद्देश्य से मेघालय के शिलांग से 25 किलोमीटर दूर स्थित उमरोई में बृहस्पतिवार से शुरू हुआ आतंकवाद-रोधी अभ्यास ‘काजिंद-22’ के छठे संस्करण का समापन 28 दिसंबर को होगा।

मेघालय में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राज्य की सत्ताधारी नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के दो और विपक्षी तृणमूल कांग्रेस के एक विधायक सहित कुल चार विधायकों ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दामन थाम लिया। असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा, भाजपा के राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी और राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा की मौजूदगी में इन विधायकों ने पार्टी मुख्यालय में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। जिन चार विधायकों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है, उनमें एनपीपी की फेरलिन संगमा और बेनेडिक्ट मारक, तृणमूल कांग्रेस के एचएम शांगप्लीयांग और निर्दलीय सैम्युएल संगमा शामिल हैं।

मेघालय में चुनावी बिगुल फूंकने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी अपने गृह राज्य के लिए रवाना हो गईं। मेघालय में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। हम आपको बता दें कि कांग्रेस के 17 में से 12 विधायकों के पाला बदलकर टीएमसी में शामिल होने के बाद मेघालय की 60 सदस्यीय विधानसभा में तृणमूल कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी बन गई है। हालांकि, 12 में से एक विधायक ने पिछले महीने विधानसभा की सदस्यता त्याग दी थी और पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। ममता बनर्जी ने मेघालय में चुनावी बिगुल फूंकते हुए महिला सशक्तिकरण, युवाओं की बेहतरी तथा राज्य की संस्कृति के संरक्षण के नाम पर वोट मांगा।

मिजोरम की बात करें तो वहां के राज्यपाल हरि बाबू कंभमपति ने मंत्री के. बिछुआ का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल ने मंत्री का इस्तीफा स्वीकार कर लिया और बिछुआ के विभागों- आबकारी एवं मादक पदार्थ मामले, समाज कल्याण, रेशम उत्पादन, पशु चिकित्सा एवं पशुपालन-को तत्काल प्रभाव से मुख्यमंत्री जोरामथंगा को आवंटित किया गया है। इस बीच, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वनलालमुआका ने कहा कि अगले साल के अंत में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बिछुआ उनकी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।

इसके अलावा मिजोरम से खबर आई है कि बांग्लादेश के सुरक्षा बलों की ओर से नवंबर में उग्रवाद रोधी अभियान शुरू करने के बाद कुकी-चिन समुदाय के 300 से अधिक लोग पड़ोसी देश से भागकर भारत आ गए। मिजोरम सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि चटगांव पहाड़ी इलाकों के बांग्लादेशी नागरिकों ने भारत में प्रवेश करने के बाद दक्षिण मिजोरम के लॉन्गतलाई जिले में शरण ली है। उन्होंने कहा कि बांग्लादेशी सुरक्षा बलों द्वारा विद्रोही समूह कुकी-चिन नेशनल आर्मी (केएनए) के खिलाफ अभियान शुरू करने के बाद ये लोग सीमा पार कर भारत आ गए। हम आपको बता दें कि केएनए कुकी-चिन नेशनल फ्रंट (केएनएफ) की सशस्त्र शाखा है, जो एक अलग राज्य की मांग करती है, जिसमें चटगांव पहाड़ी इलाकों में कुकी-चिन या मिजो समुदाय के लोग रहते हैं।

त्रिपुरा की बात करें तो आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को अगरतला में त्रिपुरा के पहले डेंटल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे। मुख्यमंत्री माणिक साहा ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने भारतीय दंत चिकित्सा परिषद (डीसीआई) की सिफारिशों के आधार पर आईजीएम अस्पताल के नए भवन में एक डेंटल कॉलेज स्थापित करने की अनुमति दे दी है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री के रविवार को होने वाले त्रिपुरा दौरे के साथ ही राज्य में भाजपा के चुनावी अभियान का शंखनाद हो जायेगा।

त्रिपुरा में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने राज्य के लिए प्रदेश चुनाव समिति समेत सात समितियां गठित कीं। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने यह जानकारी दी। त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बिरजीत सिन्हा को 10 सदस्यीय चुनाव समिति का अध्यक्ष बनाया गया है, जबकि एआईसीसी के महासचिव व त्रिपुरा के प्रभारी अजय कुमार, एआईसीसी सचिव सजारिता लैटफलांग, विधायक सुदीप रॉय बर्मन और टीपीसीसी के पूर्व अध्यक्ष गोपाल चंद्र रॉय समिति के सदस्य होंगे।

गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा और राज्य के अन्य शीर्ष पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक की। राज्य में अगले साल फरवरी-मार्च विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है। सूत्रों ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब और केंद्रीय मंत्री प्रतिमा भौमिक भी बैठक में शामिल हुए। पार्टी नेतृत्व ने नगालैंड और मेघालय के नेताओं के साथ भी बैठकें की हैं। भाजपा त्रिपुरा में सत्ता में है और दो अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में वह सत्तारुढ़ क्षेत्रीय दलों की सहयोगी है। इसके अलावा भाजपा की त्रिपुरा इकाई ने अगले साल के शुरू में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 30 समितियां गठित करने का ऐलान किया है। पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी सुनीत सरकार ने रविवार को बताया कि पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व की मंजूरी के बाद आठ सदस्यीय चुनाव प्रबंधन समिति का गठन किया गया है, जिसके प्रमुख भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राजीब भट्टाचार्य हैं।

त्रिपुरा में ‘कनेक्टिविटी’ (संपर्क) में ‘उल्लेखनीय सुधार’ होने का दावा करते हुए मुख्यमंत्री माणिक साहा ने कहा कि साबरूम को बांग्लादेश के रामगढ़ से जोड़ने वाले मैत्री पुल को जनता के लिए खोल दिये जाने के बाद यह राज्य दक्षिणपूर्व एशिया के लिए प्रवेशद्वार के रूप में उभरेगा। हम आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल नौ मार्च को फेनी नदी के ऊपर बने मैत्री पुल का उद्घाटन किया था। अधिकारियों ने बताया कि चटगांव बंदरगाह से महज 74 किलोमीटर दूर स्थित इस पुल को शेख हसीना सरकार द्वारा बांग्लादेश सीमा के अंदर सीमाशुल्क एवं आव्रजन सुविधाएं उपलब्ध करा दिये जाने के बाद यातायात के लिए खोल दिया जाएगा।

असम से आई खबरों की बात करें तो कामरूप मेट्रोपॉलिटन जिले की अदालत ने गुवाहाटी पुलिस को निर्देश दिया कि वह महिलाओं और हिंदू पुरुषों के खिलाफ कथित ‘विवादित टिप्पणी’ को लेकर लोकसभा सदस्य बदरूद्दीन अजमल के खिलाफ मामला दर्ज करे। असम जातिय परिषद (अजप) के उपाध्यक्ष दुलु अहमद द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट प्राणजीत हजारिका ने गुवाहाटी के हाटीगांव थाने के प्रभारी को प्राथमिकी दर्ज करने को कहा है।

असम के गोलपाड़ा जिले में राज्य राजमार्ग-12 पर जंगली हाथियों के एक बड़े झुंड के हमले में डेढ़ साल के बच्चे सहित कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई और दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक यह घटना उस समय हुई जब लखीपुर क्षेत्र के चोटो सिगरी में हाथी सड़क पार कर रहे थे। पुलिस अधिकारी ने कहा, ”हाथियों के झुंड ने एक ई-रिक्शा पर हमला किया, जिसमें एक परिवार लखीपुर से दुधनोई जा रहा था। इसके अलावा हाथियों ने गुवाहाटी जाने वाले चार पहिया वाले एक वाहन पर हमला किया। इस घटना में तिपहिया वाहन पर सवार दो लोगों और कार में सवार एक व्यक्ति की मौत हो गयी।’’

इसके अलावा, झारखंड, त्रिपुरा और असम के सात लोगों को असम के कामरूप जिले में मानव तस्करों के चंगुल से छुड़ाया गया। एक अधिकारी ने बताया कि रंगिया रेलवे स्टेशन के निकट एक मकान से छह महिलाओं और एक बच्चे को बचाया गया। उन्होंने बताया कि मानव तस्करों के एक गिरोह द्वारा राज्य के बाहर से कुछ लोगों को बंधक बनाए जाने की गुप्त सूचना मिलने के बाद पुलिस ने एक अभियान चलाया। अधिकारी ने कहा, “हमारी टीम ने रंगिया रेलवे स्टेशन के निकट कोरियारा गांव में एक मकान में छह महिलाओं और एक बच्चे को बंद पाया। हालांकि, अपराधी मौके से फरार हो गये।’’

इसके अलावा, बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ. ए.के. अब्दुल मोमिन ने लोगों के बीच संपर्क और द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने तथा क्षेत्र में सामूहिक समृद्धि सुनिश्चित करने के लिए ढाका-गुवाहाटी के बीच सीधी उड़ान सेवा और सिलहट-सिलचर के बीच सीधी बस सेवा शुरू करने पर जोर दिया है। मोमिन ने विदेश मंत्रालय में बांग्लादेश में भारतीय उच्चायुक्त प्रणय कुमार वर्मा से मुलाकात के दौरान यह टिप्पणी की।

असम के गमछे, तेलंगाना के तंदूर रेडग्राम और लद्दाख की खुबानी की एक किस्म को सरकार से भौगोलिक संकेतक (जीआई) का दर्जा मिला है। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने कहा कि इसके साथ ही जीआई का दर्जा हासिल वस्तुओं की संख्या 432 हो गई है। मंत्रालय ने कहा कि असम के प्रसिद्ध गमछे, तेलंगाना के तंदूर रेडग्राम, लद्दाख की रक्तसे कारपो खुबानी, महाराष्ट्र के अलीबाग सफेद प्याज को जीआई का दर्जा दिया गया है। हम आपको बता दें कि कर्नाटक, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और केरल शीर्ष पांच राज्य हैं जहां की वस्तुओं को सबसे अधिक जीआई का दर्जा मिला है।

असम के हैलाकांडी जिले में दो संगठनों के 1,179 ब्रू उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण कर दिया और 350 आग्नेयास्त्र भी अधिकारियों को सौंप दिए। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (विशेष शाखा) हिरेन चंद्र नाथ ने कहा कि आत्मसमर्पण करने वाले उग्रवादी यूनाइटेड डेमोक्रेटिक लिबरेशन फ्रंट ऑफ़ बराक वैली (यूडीएलएफ-बीवी) और ब्रू रिवॉल्यूशनरी आर्मी ऑफ़ यूनियन (बीआरएयू) से जुड़े थे। उन्होंने कहा कि दोनों संगठन ज्यादातर असम-मिजोरम सीमा से सटे इलाकों में सक्रिय रहे हैं।

नगालैंड का 10 दिवसीय हॉर्नबिल उत्सव किसामा के ‘नगा हेरिटेज विलेज’ में समाप्त हो गया। इस मौके पर आयोजित एक समारोह में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। ऑस्ट्रेलियाई शेफ गैरी मेहिगन ने मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और विशेष अतिथि मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो के साथ दीप प्रज्ज्वलित किया। लोथा नगा जनजाति के पारंपरिक गीत गुनगुनाने के साथ, लोग ‘एकता नृत्य’ में शामिल हुए। विभिन्न स्थानीय कलाकारों ने सांस्कृतिक प्रस्तुति दी। हम आपको बता दें कि हॉर्नबिल उत्सव राज्य की गहरी परंपराओं और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को प्रदर्शित करने के लिए नगालैंड सरकार का वार्षिक पर्यटन प्रचार कार्यक्रम है।



www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related