भारत जोड़ो यात्रा : 100 दिन पूरे होने पर राहुल के साथ पदयात्रा में शामिल हुए सुक्खू

Date:


सुबह चाय के लिए विराम के बाद सुक्खू के अलावा अग्निहोत्री और हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एचपीसीसी) की प्रमुख प्रतिभा सिंह, उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह और राज्य के कुछ अन्य नवनिर्वाचित विधायक तथा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के हिमाचल प्रभारी राजीव शुक्ला भी यात्रा में शामिल हुए।

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू, उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री और कांग्रेस की प्रदेश इकाई की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह शुक्रवार को राहुल गांधी के साथ ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में कदमताल करते हुए दिखे।
शुक्रवार को राहुल के नेतृत्व वाली इस पदयात्रा के 100 दिन पूरे हो गए। सुबह चाय के लिए विराम के बाद सुक्खू के अलावा अग्निहोत्री और हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एचपीसीसी) की प्रमुख प्रतिभा सिंह, उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह और राज्य के कुछ अन्य नवनिर्वाचित विधायक तथा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के हिमाचल प्रभारी राजीव शुक्ला भी यात्रा में शामिल हुए।

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का गढ़ कहे जाने वाले दौसा में पदयात्रियों के स्वागत के लिए भारी भीड़ उमड़ी थी। नेताओं की हौसला अफजाई के लिए पूरे यात्रा मार्ग पर लोगों की कतारें लगी हुई थीं।
राहुल के बगल में चल रहे पायलट के समर्थन में कई जगहों पर नारे लगे। सचिन पायलट और उनके पिता दिवंगत राजेश पायलट, दोनों पूर्व में दौसा से सांसद निर्वाचित हो चुके हैं।
सुक्खू, अग्निहोत्री, प्रतिभा सिंह, शुक्ला और हिमाचल प्रदेश के नवनिर्वाचित विधायक सुबह यात्रा के एक लंबी दूरी तय करने के बाद इसमें शामिल हुए।

शुक्रवार को ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के तहत 23 किलोमीटर की दूरी तय की गई। इस दौरान राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी कुछ देर राहुल के साथ कदम से कदम मिलाकर चलते नजर आए।
जनसत्ता अखबार के पूर्व संपादक ओम थानवी, सामाजिक कार्यकर्ता भंवर मेघवंशी और ‘लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स’ की प्रोफेसर मुकुलिका बनर्जी भी शुक्रवार को गांधी के साथ चलने वालों में शामिल थीं।

बाद में शाम को, गांधी ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया और फिर न्यायपालिका की स्थिति पर गहन चर्चा के लिए राजस्थान के सेवानिवृत्त मुख्य न्यायाधीशों और न्यायाधीशों से भी मुलाकात की।
कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा, ‘‘जो चार मुख्य बिंदु सामने आए, वे लोगों को न्याय सुनिश्चित करने के लिए एक पारदर्शी और प्रभावी न्यायिक प्रणाली की आवश्यकता पर बल देते हैं।’’
पदयात्रियों के साथ कदमताल करते कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के सी वेणुगोपाल ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘भारत जोड़ो यात्रा की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि इसके माध्यम से देश के आम लोगों से जुड़े मुद्दों को उजागर किया गया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘राहुल गांधी की छवि को खराब करने की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कोशिश पर भी हमने पानी फेर दिया है।’’
कांग्रेस महासचिव (संगठन) ने इस बात पर भी जोर दिया कि यात्रा का संदेश 26 जनवरी से पार्टी द्वारा चलाए जाने वाले एक अन्य अभियान के माध्यम से फैलाया जाएगा।
कन्याकुमारी से सात सितंबर को शुरू हुई ‘भारत जोड़ो यात्रा’ अब तक आठ राज्यों-तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और राजस्थान से गुजर चुकी है।
राहुल 2,800 किलोमीटर से अधिक की पदयात्रा कर चुके हैं।

इस दौरान राहुल अपने समर्थकों के साथ-साथ आलोचकों का भी ध्यान आकर्षित करने में कामयाब रहे हैं।
विवाद भी यात्रा का हिस्सा रहे हैं और कांग्रेस तथा भाजपा ने कई मौकों पर एक-दूसरे की आलोचना की है। यात्रा 24 दिसंबर को दिल्ली में प्रवेश करेगी और लगभग आठ दिनों के विराम के बाद उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और अंत में जम्मू-कश्मीर की ओर बढ़ेगी।

इसमें पूजा भट्ट, रिया सेन, सुशांत सिंह, स्वरा भास्कर, रश्मि देसाई, आकांक्षा पुरी और अमोल पालेकर जैसी फिल्मी और टीवी हस्तियों के साथ-साथ समाज के कई अन्य वर्गों के लोगों की भागीदारी देखी गई है।
पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल एल रामदास, शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की सुप्रिया सुले और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन सहित कई अन्य हस्तियां भी समय-समय पर इस पदयात्रा में शामिल हुई हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।





www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related