Devendra Fadnavis: उद्धव ठाकरे की पार्टी जैसा था MVA का मोर्चा, देवेंद्र फडणवीस ने कसा महाविकास अघाड़ी पर तंज – maharashtra devendra fadnavis slams mahavikas aghadi over mahamorcha

Date:


मुंबई: महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी (Mahavikas Aghadi) समेत समर्थक दलों ने आज मुंबई (Mumbai) में हल्लाबोल मोर्चा का आयोजन किया था। मुंबई के नागपाड़ा इलाके से शुरू हुआ यह मोर्चा जेजे फ्लाईओवर के ऊपर से होते हुए टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग के पास तक पहुंचा। यहीं पर इस मोर्चे के समापन हुआ और यहीं पर मंच से एनसीपी (NCP) नेता अजित पवार, शरद पवार (Sharad Pawar) , उद्धव ठाकरे और कांग्रेस (Congress) के नेताओं ने संबोधन भी किया। महाविकास अघाड़ी के नेता इस मोर्चे के पहले तक यह दावा करते रहे कि ऐसा मोर्चा न तो आज के पहले कभी मुंबई शहर में निकाला गया था और न कभी निकाला जाएगा। यह बात सच भी है कि इस मोर्चे को सफल बनाने के लिए कांग्रेसी, एनसीपी (NCP) और शिवसेना (Shivsena) ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था। मुंबई ही नहीं महाराष्ट्र (Maharashtra) के कोने-कोने से पार्टियों ने अपने पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बुलाया था। बावजूद इसके इस मोर्चे में वह भीड़ नजर नहीं आई जिसकी उम्मीद महाविकास अघाड़ी के नेता कर रहे थे। एमवीए (MVA) नेताओं का यह अनुमान था कि इस मोर्चे में कम से कम ढाई से तीन लाख लोग जरूर शामिल होंगे। हालांकि, तस्वीरों को देखकर ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगता। इस मोर्चे को लेकर बीजेपी (BJP) नेताओं ने भी अब तंज कसना शुरू कर दिया है।

महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि फिलहाल जैसी उद्धव ठाकरे की पार्टी की हालत है, मोर्चा भी बिल्कुल उसी तरह का निकाला गया है। देवेंद्र फडणवीस ने तंज कसते हुए यह बताने का प्रयास किया है कि बगावत के बाद उद्धव ठाकरे के पास गिने-चुने विधायक और सांसद हैं। उसी प्रकार का यह मोर्चा भी था। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि तीन पार्टियों के एकसाथ आने के बावजूद इतना छोटा मोर्चा निकाला गया है। उन्होंने कहा कि कल हमने एमवीए नेताओं को यह कहा था कि वह यह मोर्चा आजाद मैदान में लेकर जाएं। हमें पता था वह ऐसा नहीं करेंगे क्योंकि वह आजाद मैदान का एक कोना भी नहीं भर पाते। फडणवीस ने कहा कि इस मोर्चे के ड्रोन शॉट्स नहीं दिखाए गए, सब क्लोजअप शॉट्स दिखाए गए। ताकि लोगों की भीड़ दिखाई जा सके जो असल में थी ही नहीं। फडणवीस ने कहा कि मेरी नजर में यह मोर्चा पूरी तरह से विफल रहा है।

महापुरुषों के अपमान पर भी फडणवीस ने घेरा
देवेंद्र फडणवीस ने विपक्ष के मोर्चे के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में जमकर महाविकास अघाड़ी की खिंचाई की। उन्होंने कहा कि फिलहाल विपक्ष के पास मुद्दों का अकाल पड़ चुका है, उनके पास कोई भी सही मुद्दा बचा ही नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि विपक्ष को यह मोर्चा निकालने का भी अधिकार नहीं है क्योंकि महापुरुषों का अपमान उनके नेताओं की तरफ से किया जा रहा है। विपक्ष के नेता वारकरी संप्रदाय का अपमान कर रहे हैं। विपक्ष के नेता बाबासाहेब आंबेडकर का अपमान कर रहे हैं। उन्हें यह भी नहीं पता कि बाबा साहेब आंबेडकर का जन्म कहां हुआ था? विपक्ष के नेता साधू संतों का अपमान कर रहे हैं। ऐसे विपक्ष के लोगों को मोर्चा निकालने का कोई भी नैतिक अधिकार नहीं है। आपको बता दें कि विपक्ष ने इसी आधार पर यह मोर्चा निकाला था। उनका कहना था कि सत्ता पक्ष के नेता और मंत्री लगातार महापुरुषों का अपमान कर रहे हैं। उनकी तरफ से यह मांग भी की गई थी कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र से वापस केंद्र में भेजा जाना चाहिए।



navbharattimes.indiatimes.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: navbharattimes.indiatimes.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related