Mohan Bhagwat: भारत अगर चीन-अमेरिका बनने की कोशिश करेगा तो विकास नहीं होगा… मोहन भागवत का बड़ा बयान – mohan bhagwat says india should not follow china america

Date:


मुंबई: मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अगर भारत चीन और अमेरिका जैसा बनने की कोशिश करेगा तो उसका विकास नहीं हो सकेगा। उन्होंने कहा कि भारत का विकास इसके विजन, यहां के लोगों की स्थितियों और आकांक्षाओं, परंपरा और संस्कृति, दुनिया और जीवन के बारे में विचारों के आधार पर होगा।

भागवत मुंबई में भारत विकास परिषद के एक कार्यक्रम में पहुंचे थे। उन्होंने कहा, ‘हम भारत हैं, भामाशाह हमारे पास हैं, वैसे ही भारत विकास परिषद है। भारत के विकास की अपनी कल्पना है, अपनी प्रकृति है। हमारे पास विकास के चार साधन है- अर्थ, काम, मोक्ष और धर्म है। और भारत धर्मपरायण देश है जो भारत को बाकी के देशों से अलग करता है। भारत के पास वसुधैव कुटुम्बकम का मंत्र है और सबके विकास में एक का विकास है।’

‘आज हम रशिया को कह सकते हैं-लड़ाई बंद करो’
देश के विकास को लेकर मोहन भागवत ने कहा, ‘भारत का जो प्राचीन चरित्र है, भारत विश्व के लिए शांति प्रदाता विश्व गुरु है और भारत को बाकी देश इसी रूप में देखते है, इसलिए भारत की आवश्यकता जब तक सृष्टि है तब तक भारत की जरूरत है। इसलिए भारत विकास परिषद के सभी कार्यकर्ताओं को भारत के चरित्र को प्रकृति को जानना है और सेवा करते हुए जीना है।’

मोहन भागवत ने इससे पहले कहा, ‘भारत बड़ा हो रहा है इसलिए आज भारत को G-20 में बुला रहे हैं। इसलिए आज हम रशिया को कह सकते हैं कि लड़ाई बंद करो। इससे पहले कहते तो हमें रशिया झाड़ देता लेकिन आज भारत संपन्न हो रहा है इसलिए कोई ऐसा हमें नहीं कह सकता।’



navbharattimes.indiatimes.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: navbharattimes.indiatimes.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related