जिस जिले को मिला ‘हर घर जल’ योजना का राष्ट्रीय अवार्ड, वहां बूंद-बूंद को तरस रहे ग्रामीण

Date:


रिपोर्ट- अंकुश मोरे

बुरहानपुर. जल जीवन मिशन के तहत हर घर तक नल से जल पहुंचाने वाला मध्य प्रदेश का बुरहानपुर देश का नंबर वन जिला बना था. देश में सबसे पहले ‘हर घर जल’ प्रमाणित जिला घोषित होने पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बुरहानपुर जिले को सम्मानित किया था. और नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में जिले के पीएचई विभाग के अतिरिक्त प्रमुख सचिव मलय श्रीवास्तव और तत्कालीन कलेक्टर प्रवीण सिंह को सम्मानित किया गया था, लेकिन जिले के ग्रामीण अंचलों में नल जल मिशन का कार्य पूरा नहीं हुआ है.

दरअसल बुरहानपुर जिले के ग्रामीण अंचलों में हर घर नल योजना की पोल खुल रही है. घर घर जल पहुंचाना सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है. अफसरों की लापरवाही और अनदेखी की वजह से इस योजना पर पलीता लग रहा है. बुरहानपुर जिले में 129 करोड़ रुपयों की लागत से 254 गांवों में यह योजना स्वीकृत है. कागजों पर इसे शत- प्रतिशत लागू बता दिया है,लेकिन धरातल पर हकीकत कुछ और ही है. जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर बसे आदिवासी बहुल क्षेत्रों में 15 से 20 गांव हैं, जहां पर नल जल योजना की वास्तविकता सामने दिखाई दी. इन गांवों में प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट घर -घर नल -जल योजना पूरी तरह से फेल साबित हो रहा है.

करोड़ों रुपए की लागत से शुरू की गई नल -जल योजना देख- रेख के अभाव में लापरवाही की भेंट चढ़ गई है. इसके कारण ग्रामीणों को बूंद -बूंद पानी के लिए जूझना पड़ रहा है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक यहां घर- घर नल -जल योजना का काम पूरा हो चुका है. और हर घर तक पानी के लिए पाइप बिछ चुकी है.तो कहीं नल लगाए उसमे पानी नहीं आ रहा है. नालों में टोटी नहीं लगाए हैऔर ना ही जल मिल रहा है. धुलकोट क्षेत्र के 15 से 20 गांव में योजना के संसाधन बिखरे पड़े और क्षतिग्रस्त हो रहे हैं.

ग्रामीणों ने बताया कि लगभग 1वर्ष से अधिक समय हो चुका है लेकिन नल जल योजना का लाभ नही मिल रहा.कई बार शिकायते की लेकिन शासन प्रशासन ने कोई सुनवाई नही की.

Tags: Mp news



hindi.news18.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: hindi.news18.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related