भारत जोड़ो यात्रा : राहुल गांधी से मिलने उमड़ी भीड़, शिक्षा के ‘सांप्रदायीकरण’ पर हुई चर्चा

Date:


शुक्रवार को यात्रा के 100 दिन पूरे हो गए थे। ‘भारत जोड़ो यात्रा’ 24 दिसंबर को दिल्ली में प्रवेश करेगी और लगभग आठ दिनों के विश्राम के बाद उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से गुजरते हुए अंत में जम्मू-कश्मीर की ओर बढ़ेगी।

‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को राजस्थान की नागरिक संस्थाओं के सदस्यों के साथ मुलाकात की, जिसमें शिक्षा के ‘‘सांप्रदायीकरण’’, स्वास्थ्य के अधिकार और खाद्य सुरक्षा जैसे कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई।
दोपहर में यात्रा के पड़ाव के दौरान यह संवाद हुआ। यात्रा दौसा के कालाखो से सुबह करीब आठ बजे शुरू हुई।
रविवार को यात्रा शुरू होने पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और वरिष्ठ नेता सचिन पायलट भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष के साथ चले।

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री पायलट के गढ़ कहे जाने वाले दौसा में यात्रा में भाग लेने वालों का स्वागत करने के लिए भारी भीड़ उमड़ी। नेताओं का उत्साहवर्धन करने के लिए यात्रा के पूरे मार्ग पर लोगों की कतार लगी रही।
गहलोत और पायलट के बीच चल रहे सत्ता संघर्ष के बीच कई जगहों पर पायलट के समर्थन में नारे लगे और कहीं-कहीं गहलोत के समर्थन में भी नारे लगे।
भीड़ में शामिल कई लोगों ने कहा कि कांग्रेस को अगले विधानसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए गहलोत-पायलट के बीच की ‘‘दरार’’ को भरने की जरूरत है।

दोपहर के पड़ाव दौरान, राहुल गांधी ने राजस्थान की नागरिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों से मुलाकात की।
पार्टी ने एक बयान में कहा, ‘‘बातचीत के दौरान शिक्षा के सांप्रदायीकरण, स्वास्थ्य के अधिकार, खाद्य सुरक्षा, श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा, आरटीआई के मुद्दों पर चर्चा की गई। संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने राज्य सरकार के लिए 30 महत्वपूर्ण सुझाव दिए।’’
राहुल गांधी ने कहा कि जिन मुद्दों पर राजस्थान सरकार और नागरिक संस्थाओं में सहमति बनी है, उन पर तुरंत कदम उठाए जाएंगे, जबकि जिन मुद्दों पर सहमति नहीं बन पाई है, उन पर आगे विचार-विमर्श किया जाएगा।

इस दौरान मौजूद मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि जिन मुद्दों को बजट में शामिल किया जा सकता है, उन्हें शामिल किया जाएगा।
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी सोमवार को अलवर में एक रैली को संबोधित करेंगे।
राहुल गांधी और अन्य ‘‘भारत यात्रियों’’ ने यहां अपने यात्रा शिविर स्थल पर लगे स्क्रीन पर रविवार देर शाम अर्जेंटीना और फ्रांस के बीच 2022 फीफा विश्व कप फाइनल मैच भी देखा।

कन्याकुमारी से सात सितंबर को शुरू हुई ‘भारत जोड़ो यात्रा’ अब तक आठ राज्यों-तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और राजस्थान से गुजर चुकी है। शुक्रवार को यात्रा के 100 दिन पूरे हो गए थे।
‘भारत जोड़ो यात्रा’ 24 दिसंबर को दिल्ली में प्रवेश करेगी और लगभग आठ दिनों के विश्राम के बाद उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से गुजरते हुए अंत में जम्मू-कश्मीर की ओर बढ़ेगी।

इसमें पूजा भट्ट, रिया सेन, सुशांत सिंह, स्वरा भास्कर, रश्मि देसाई, आकांक्षा पुरी और अमोल पालेकर जैसी फिल्म और टेलीविजन हस्तियों के साथ-साथ समाज के कई वर्गों के लोगों की भागीदारी देखी गई है।
शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की सुप्रिया सुले, पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल एल रामदास, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन सहित कई दिग्गज अलग-अलग मौकों पर इस पदयात्रा में शामिल हो चुके हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।





www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related