Investment: फ्रांस के निवेशक उत्तर प्रदेश में रक्षा, कृषि और नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में निवेश के इच्छुक

Date:


राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री योगेंद्र उपाध्याय के नेतृत्व में राज्य का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को पेरिस पहुंचा और कई बड़े औद्योगिक घरानों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधिमंडल ने फ्रांस की राजधानी पेरिस में बड़े औद्योगिक घरानों व उनके प्रतिनिधियों से मुलाकात की और उन्हें राज्य में अगले साल फरवरी में होने वाले ‘उत्तर प्रदेश वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन’ के लिए आमंत्रित किया।
राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री योगेंद्र उपाध्याय के नेतृत्व में राज्य का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को पेरिस पहुंचा और कई बड़े औद्योगिक घरानों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की।
प्रतिनिधिमंडल का दौरा विभिन्न देशों में राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे रोड शो की श्रृंखला का हिस्सा था।

प्रवक्ता ने कहा कि फ्रांस की कंपनियों ने भी राज्य में निवेश के जरिए व्यापारिक संबंधों को मजबूती देने पर सहमित जताई।
प्रवक्ता के अनुसार, पेरिस में हुए इस रोड शो के दौरान फ्रांस के निवेशकों ने उत्तर प्रदेश में रक्षा, कृषि, डेयरी, खाद्य प्रसंस्करण, आईटी, नवीकरणीय ऊर्जा और जल परिवहन समेत विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की इच्छा जताई है।
प्रतिनिधिमंडल ने पार्टेक्स एनवी के प्रतिनिधि डॉक्टर गुंजन भारद्वाज से मुलाकात की। कंपनी ने स्वास्थ्य सेवा प्रणाली में कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) की शक्ति का उपयोग के लिए वाराणसी में एक रोगी डेटा एक्सचेंज एएमआईयूटी स्थापित करने के लिए 1000 करोड़ के निवेश के इरादे से आशय पत्र पर हस्ताक्षर किए।

प्रवक्ता के मुताबिक जलशक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह के नेतृत्व में सिंगापुर पहुंचे प्रतिनिधिमंडल का रोड शो भी सफल रहा। रोड शो के दौरान उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधिमंडल से सिंगापुर की कारोबारी बिरादरी ने निवेश के अवसरों और सरकार द्वारा मिल रहे प्रोत्साहन पर चर्चा की। प्रतिनिधिमंडल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (आईटीई) गया। यहां विभिन्न क्षेत्रों में जिनमें सिंगापुर और उत्तर प्रदेश के बीच भागीदारी गतिविधियां हो सकती हैं, उन पर चर्चा की गई।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को आगामी पांच वर्ष में एक हजार अरब की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है।

इसके तहत अगले साल 10 से 12 फरवरी के बीच लखनऊ में होने वाली वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन के जरिये 10 लाख करोड़ का निवेश लाने का लक्ष्य है। इसके मद्देनजर उन्होंने अपने मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के आठ समूहों को 18 देशों के भ्रमण पर भेजा है।
सरकार के अनुसार, इन दौरों के दौरान रोड शो व ट्रेड शो को निवेशकों की अच्छी प्रतिक्रिया मिली और हजारों करोड़ के निवेश प्रस्ताव के राज्य में आने का संकेत है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।





www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related