Ashok Gehlot और Sachin Pilot के बीच हो गई सुलह! बंद कमरे में दोनों नेताओं के साथ राहुल की क्या हुई बात

Date:


rahul gehlot pilot

ANI

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा फिलहाल राजस्थान में है। राजस्थान में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। चुनाव में कहीं ना कहीं अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच की तकरार पार्टी पर भारी पड़ सकती है। यही कारण है कि राहुल गांधी ने दोनों नेताओं से अकेले में बैठकर बातचीत की है।

राजस्थान कांग्रेस में पिछले कुछ दिनों से सब कुछ ठीक-ठाक नजर नहीं आ रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राजस्थान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट के बीच तकरार लगातार देखने को मिली। सार्वजनिक मंचों से भी अशोक गहलोत ने सचिन पायलट को लेकर कई बड़े आरोप भी लगा दिए। दूसरे ओर से पलटवार भी किया गया। हालांकि, पार्टी के कार्यक्रमों में दोनों नेता एक मंच पर जरूर दिखाई देते थे। इन सबके बीच राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा फिलहाल राजस्थान में है। राजस्थान में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। चुनाव में कहीं ना कहीं अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच की तकरार पार्टी पर भारी पड़ सकती है। यही कारण है कि राहुल गांधी ने दोनों नेताओं से अकेले में बैठकर बातचीत की है।

हालांकि, अब तक यह नहीं पता चल सका है कि मुद्दों पर चर्चा हुई है। लेकिन, यह जरूर कहा जा रहा है कि कहीं ना कहीं राहुल गांधी की ओर से दोनों नेताओं के बीच सुलह की कोशिश की गई होगी। जिस तरीके से दोनों नेता एक दूसरे के खिलाफ जमकर बयानबाजी करते थे, उसेसे पार्टी के लिए मुसीबतें खड़ी हो जाती थी। चुनाव के मद्देनजर पार्टी में एकजुटता जरूरी है। दोनों नेताओं के बीच सुलह के लिए कई दिग्गज नेता सामने आ चुके हैं। ऐसे में अब राहुल गांधी ने भी दोनों नेताओं से अकेले में बंद कमरे में 2 घंटे तक बैठक की है। दोनों नेताओं से यह भी कहा गया है कि आने वाले चुनाव को देखते हुए पार्टी को एकजुट रहना सबसे ज्यादा जरूरी है और ऐसे में आपसी मतभेद को भूलना होगा। हालांकि, सवाल अब भी बरकरार है कि इस बैठक के बाद दोनों नेताओं के बीच क्या तकरार खत्म होगी? यह आने वाले वक्त में ही दिखाई पड़ेगा।  

पिछले दिनों भी पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने भी दोनों नेताओं के बीच मतभेद को खत्म किए जाने के प्रयास किए गए थे। इसको लेकर भाजपा जबरदस्त तरीके से कांग्रेस पर निशाना साधा रही है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा था कि जनता कांग्रेस के भीतर की लड़ाई से त्रस्त हो चुकी है। एक कुर्सी पर बने रहना चाहता है जबकि दूसरा कुर्सी की आस में बैठा हुआ है। वहीं, राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान एक सभा में राहुल गांधी ने कहा कि यह देश “मोहब्बत का है, नफरत का नहीं है”, इसलिए वह “ नफरत के बाजार में मोहब्बत की दुकान खोल रहे हैं।” गांधी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं से भी ‘मोहब्बत की दुकान खोलने की’ अपील की। कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी भारत जोड़ो यात्रा के उद्देश्य पर सवाल उठाने वाले भाजपा के नेताओं के लिए यही उनका जवाब है।

अन्य न्यूज़





www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related