झारखंड में तेंदुए के हमले में एक और बच्ची की मौत, 10 दिनों में तीसरी मौत

Date:


पूरे पलामू संभाग की बात करें तो इस क्षेत्र में तेंदुए के हमले में मौत की यह तीसरी घटना है। ताजा घटना अनुमंडल क्षेत्र रंका वन प्रक्षेत्र के सिरोई पंचायत अंतर्गत सेवाडीह गांव की है, जहां खरवार टोला निवासी जगदेव सिंह की पुत्री सीता कुमारी (सात वर्ष) की तेंदुए के हमले में मौत हो गई।

झारखंड में गढ़वा जिले के रंका अनुमंडल क्षेत्र में पिछले छह दिनों में तेंदुए के हमले में दो बच्चों की जान जाने के मद्देनजर उसके आदमखोर बन जाने की आशंका जताई जा रही है। सोमवार शाम को तेंदुए के ताजा हमले में एक सात वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। पूरे पलामू संभाग की बात करें तो इस क्षेत्र में तेंदुए के हमले में मौत की यह तीसरी घटना है।
ताजा घटना अनुमंडल क्षेत्र रंका वन प्रक्षेत्र के सिरोई पंचायत अंतर्गत सेवाडीह गांव की है, जहां खरवार टोला निवासी जगदेव सिंह की पुत्री सीता कुमारी (सात वर्ष) की तेंदुए के हमले में मौत हो गई।

तेंदुए ने उसकी गर्दन पर हमला कर उसे खाने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीणों के पीछा करने पर वह बच्ची को छोड़कर जंगल में भाग गया।
इस घटना जानकारी देते हुए परिवार के लोगों ने बताया कि सीता कुमारी की गर्दन पर जंगली तेंदुए ने हमला कर दिया, लेकिन ग्रामीणों के शोर मचाने पर तेंदुआ बच्ची को लेकर जंगल की ओर भागने लगा। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों ने लाठी-डंडालेकर तेंदुए का पीछा किया, तो वह बच्ची को छोड़कर भाग गया, लेकिन बच्ची की जान नहीं बची।

वन विभाग की टीम वनरक्षी रामा शंकर प्रसाद गुप्ता की अगुवाई में घटनास्थल पर पहुंचकर बच्ची के शव को परीक्षण के लिए मंगलवार की सुबह गढ़वा भेज दिया है। बताया जाता है कि बच्ची शौच के लिए घर के सामने ही करीब 500 गज की दूरी पर गई थी, लेकिन इसी बीच तेंदुआ ने हमला कर दिया।
बच्ची पर तेंदुए का हमला देख बगल में खड़ी उसकी मां ने शोर मचाया और और आसपास के लोगों को बुलाया।
इस संबंध में घटना की पुष्टि करते हुए गढ़वा उत्तरी के वन संरक्षक दिलीप कुमार यादव ने बताया कि एक ही वन अनुमंडल में कुछ दिनों के भीतर हुई दोनों घटनाओं के पीछे एक ही तेंदुए की पहचान हुई है।

वन विभाग के द्वारा लगाए गए ट्रैप कैमरे में तेंदुए के मूवमेंट का पता चला है।
तेंदुए को पकड़ने के लिए विभाग की ओर से अभियान चलाया जा रहा है ‌। उन्होंने बताया कि लगातार दो घटनाओं के दृष्टिगत हमलावर तेंदुए को आदमखोर घोषित करने पर भी विचार किया जा रहा है।
दूसरी ओर गढ़वा दक्षिणी के डीएफओ शशि कुमार ने बताया किमृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा।

विदित हो कि इसी तरह की दूसरी घटना में इस घटनास्थल से लगभग 40 किलोमीटर दूर गढ़वा जिले के रंका अनुमंडल के भंडरिया थाना के रोदो गांव में 14 दिसंबर की शाम को बिस्किट लेने गए नौ वर्षीय बच्चे पर भी तेंदुआ ने हमला कर उसकी जान ले ली थी।
उक्त घटना में तो तेंदुआ उसके शव के आधे हिस्से को खा भी गया था।भंडरिया थाना क्षेत्र के रोदो गांव की उक्त घटना में ब्रह्मदेव तुरी के नौ वर्षीय पुत्र विक्रम कुमार की मौत हो गयी थी।
बताया जा रहा है कि पलामू संभाग के लातेहार जिले के बरवाडीह प्रखंड के चिपदोहर इलाके में 10 दिसंबर को कथित तौर पर उसी तेंदुए के हमले में एक अन्य 12 वर्षीय लड़की की मौत हो गई थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।





www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related