हम जिस कोहरे से हो जाते हैं परेशान, बहुत से देशों में साल भर किया जाता है उसका इंतज़ार!

Date:


Dense Fog Benefits: कुदरत ने हमारी धरती पर अलग-अलग चीज़ें दी हैं. कहीं फूल-पत्तियां और सुंदर पेड़-पौधे हैं तो कहीं पर कल-कल बहतीं नदियां और आसमान छूते पहाड़. इसके अलावा बादल, समंदर, बर्फ और काहरे जैसी चीज़ें भी हैं, जिन्हें देखकर हम चकित रह जाते हैं. वो बात अलग है कि कई बार बर्फबारी, ओलों और कोहरे से हमें दिक्कत भी होती है, लेकिन अगर इनका सही इस्तेमाल किया जाए तो ये वरदान साबित होते हैं.

भारत में ठंड बढ़ने के साथ उत्तरी इलाके में कोहरा भी गिरने लगा है. कोहरा न सिर्फ मौसम के ठंडे होने का संकेत है बल्कि ये कई तरह की मुसीबतें भी साथ लेकर आता है. वैसे कोहरा हमें भले ही परेशान करता हो, लेकिन कई देशों में इसका इंतज़ार किया जाता है. ठंड में कोहरे का अटैक भले ही दुखी करता हो, लेकिन पानी की कमी झेल रहे देशों में इसका बेसब्री से इंतज़ार किया जाता है.

कोहरे की भी होती है खेती
पानी की कमी से जूझ रहे देशों के लिए कोहरे की परत किसी वरदान से कम नहीं होती है. इन देशों में फॉग कैचिंग या फॉग हार्वेस्टिंग की जाती है. अगर इसे हम सामान्य तौर पर समझने की कोशिश करें तो ये बिल्कुल वैसा ही है जैसे घर में पानी आने का वक्त सीमित होता है और उसे किसी बड़े ड्रम में भरकर रखा जाता है. यही काम कई देशों में सूखा झेल रहे इलाकों में हो रहा है. फॉग के पर क्यूबिक मीटर में लगभग 0.5 ग्राम पानी होता है. ये पानी के साथ बहते हुए नीचे आता है, जब उसे धातु के बारीक बुने जाल में लेकर जमा किया जाता है. फिर इ पानी को प्रोसेस करके शुद्ध किया जाता है.

70 के दशक से हुई शुरुआत
इस तकनीक की शुरुआत 70 के दशक में हुई थी. 100 वर्ग मीटर के दो डिवाइस तैयार किए गए, जिसके ज़रिये हवा से आते-जाते कोहरे को कैच सकते पाइप की मदद से कंटेनर में जमा किया जाता है. स्टडी के पहले चरण में रोज़ 14 लीटर पानी जमा हो सका, ये क्वांटिटी ज्यादा नहीं थी, लेकिन फॉग से पानी बनने की तकनीक काम कर रही थी. दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन में पहली बार फॉग कैचिंग हुई. साल 1987 में दूसरी बार कनाडा और इटली में ये प्रयोग हुआ और हज़ारों गांवों को पानी उपलब्ध कराया गया. इसके अलावा भी पराग्वे के बेलाविस्टा, इक्वाडोर, ओमान और मैक्सिकों में भी ये ट्रेंड चल रहा है.

Tags: Ajab Gajab, Science news, Weird news



hindi.news18.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: hindi.news18.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related