राज्यपाल आनंदीबेन ने कहा- बाजरा वर्ष-2023 मनाने के लिए विश्वविद्यालय करें विभिन्न कार्यक्रम

Date:


उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने विश्वविद्यालयों और इनसे जुड़े महाविद्यालयों से ‘बाजरा वर्ष-2023’ को विविध आयोजनों के माध्यम से मनाने का मंगलवार को आह्वान किया।

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने विश्वविद्यालयों और इनसे जुड़े महाविद्यालयों से ‘बाजरा वर्ष-2023’ को विविध आयोजनों के माध्यम से मनाने का मंगलवार को आह्वान किया।
यहां प्रोफेसर राजेंद्र सिंह (रज्जू भैया) विश्वविद्यालय के पांचवें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा, “हमारे खानपान में बदलाव करने की जरूरत है, क्योंकि मधुमेह, बीपी, कैंसर जैसी बीमारियां मौजूदा खानपान से हो रही हैं।”

उन्होंने कहा, “पूरे विश्व ने वर्ष 2023 को बाजरा वर्ष के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है। हम गेहूं के बजाय बाजरा, ज्वार, रागी जैसे मोटे अनाज खाएं। हम खाएंगे तो किसान इसे पैदा करने के लिए प्रेरित होंगे और हमारा स्वास्थ्य भी अच्छा होगा। विश्वविद्यालय और महाविद्यालय ऐसे ऐसे कार्यक्रम करें जहां हमारी बेटियां बाजरा से व्यंजन तैयार करना सीखें।”
राज्यपाल ने मेडल और उपाधि प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों से कहा, “आपका मेडल प्राप्त करने में आपके माता-पिता की बड़ी भूमिका रही है। इसलिए माता-पिता का सम्मान करना हम सभी का कर्तव्य बनता है। सही मायने में आगे बढ़ने का आपका संकल्प ही असली गोल्ड मेडल है।”

दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि इसरो के पूर्व अध्यक्ष डॉक्टर के. कंस्तूरीरंगन ने अपने संबोधन में कहा, “आत्मनिर्भर भारत का लक्ष्य हासिल करने के लिए ज्ञान और अच्छे स्वास्थ्य के जरिये नवप्रवर्तन और अनुसंधान को बढ़ावा देना जरूरी है।
उन्होंने कहा, “आज वास्तविक जीवन की मांग है कि व्यक्ति के पास विविध कौशल, ज्ञान और जागरुकता हो। हमारे देश को सकारात्मक दृष्टिकोण, उत्कृष्टता के लिए जुनून और नेतृत्व के गुणों के साथ मानव प्रतिभा की जरूरत है।”

इस विश्वविद्यालय की कुलाधिपति राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने बीसीए के छात्र अनुराग राय को चांसलर गोल्ड मेडल और राम लुभाई दानदाता गोल्ड मेडल और बीबीए की छात्रा जूही मालवीय को शिवराम दास गुलाटी गोल्ड मेडल प्रदान किया।
दीक्षांत समारोह में कुल 142 पदक प्रदान किए गए जिसमें 88 छात्राओं और 54 छात्रों ने ये मेडल प्राप्त किए। वहीं उपाधि प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या 1,19,377 रही।
दीक्षांत समारोह को उत्तर प्रदेश की उच्च शिक्षा राज्यमंत्री रजनी तिवारी और इस विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर अखिलेश कुमार सिंह ने भी संबोधित किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।





www.prabhasakshi.com

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by The2ndPost. Publisher: www.prabhasakshi.com

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related